समस्तीपुरःघर पर रहें, रचनात्मक बनें और बदलाव लाएं-संजय कुमार,बीईओ

आजतक 24लाइव/एस.रमण

 

समस्तीपुर/बिथानः-कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए आगामी 14 अप्रैल तक लॉक डॉउन के तहत अपने घर पर रहकर भी हम अपनी रचनात्मक शक्ति को बढ़ा सकते हैं।यह मानना है बिथान प्रखंड के प्रखंड शिक्षा पदाधिकारी संजय कुमार का।उन्होंने बताया कि इसका सबसे बड़ा उदाहरण सर आइज़क न्यूटन है।न्यूटन जिस दौर में कैंब्रिज यूनिवर्सिटी में पढ़ते थे तब प्लेग जैसी महामारी फैली थी।उस समय शिक्षण संस्थान बंद करने पड़े थे।इसी दौरान वैज्ञानिक न्यूटन ने घर पर रहकर ही तीन नियमों का आविष्कार किया था। लाॅक डॉउन के समय का सदुपयोग कर हम खुद को व्यस्त रखने के साथ कुछ बेहतर भी कर सकते हैं।मौजूदा दौर पर घर पर रहना हमारे लिए बेहद जरूरी है।

 

 

कोरोना के संक्रमण से बचने का सबसे बड़ा फार्मूला घर से बाहर नहीं निकलें,बच्चों और परिवार के लोगों को भी समझाना होगा ताकि उनमें किसी तरह का मानसिक तनाव पैदा ना हो।इस दौरान किताबों से दोस्ती करना बेहतर होगा घर से बाहर न जा कर भी हम एक दूसरे को जागरूक कर सकते हैं।इसके लिए मोबाइल,इंटरनेट की मदद ले सकते हैं।वहीं भागदौड़ भरी जिंदगी में हम अक्सर अपनों से दूर हो जाते हैं।समय का अभाव और काम की वजह से मिलने वाला तनाव भी इसकी वजह है। लिहाजा समय का सदुपयोग कर फोन के जरिए सब से बात कीजिए और हालचाल पूछिए ।लॉक डाउन के दौरान रिश्तेदारी फोन से ही निभाएं यही बेहतर होगा।इससे वह भी स्वस्थ रहेंगे और आप भी।यह सभी के लिए बेहतर रहेगा।समाज,राज्य व देश के लिए सही होगा ।लॉक डॉउन के कारण लोगों की साधारण रोजमर्रा की दिनचर्या अलग है ।कामकाजी लोग घरों में ही रह रहे हैं।अब सवाल आता है कि ऐसे हालत में हम अपने दिनचर्या को कैसे स्वस्थ रखें कि हम खुशहाल और ऊर्जावान रहे।इसके लिए सुबह उठने के बाद पूजा पाठ व ध्यान लगाने के साथ व्यायाम व योग करना लाभदायक होगा। ऐसा भोजन करें जिससे रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़े तथा सोशल डिस्टेंसिग का ध्यान रखें तथा मास्क का प्रयोग करें।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

बिहार का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा ‌‍?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close