भागलपुर/ मूर्ति स्थापित कर की गई मां सरस्वती की आराधना

धूमधाम व उल्लास के साथ मनाया गया सरस्वती पूजा

Prince Dilkhush/Aajtak24live.in

मूर्ति स्थापित कर की गई मां सरस्वती की आराधना

धूमधाम व उल्लास के साथ मनाया गया सरस्वती पूजा

भागलपुर/संवाददाता

धार्मिक मान्यता के अनुसार बसंत पंचमी के दिन मां सरस्वती का धरती पर आगमन हुआ था।भगवान कृष्ण ने सरस्वती मां से प्रसन्न होकर उनके जन्मदिवस को एक उत्सव की तरह मनाने का उन्हें वरदान दिया था।ऐसा भी माना जाता है कि इस दिन कामदेव और उनकी पत्नी रति धरती पर आकर प्रेम रस का संचार करते हैं।इसलिए इस दिन मां सरस्वती के साथ कामदेव और रति की पूजा भी की जाती है।

वहीं भागलपुर नगर निगम के वार्ड संख्या 51,कुतुबगंज (रघुनाथ मिश्रा लेन,मिरजानहाट) में श्री श्री 108 सरस्वती पूजा,स्टूडेंट क्लब के द्वारा माँ सरस्वती की मूर्ति स्थापित कर पूजा,अर्चना की गई।वहीं पूजा समिति के सदस्य ई. राज कुमार,श्यामाकांत कुमार,रोहित कुमार,सुमन कुमार,विष्णु कुमार,तपन कुमार ने बताया कि पिछले 25 वर्षों से हमलोग माँ सरस्वती की मूर्ति स्थापित करते आ रहे हैं।उन्होंने बताया कि सृष्टि के रचनाकार भगवान ब्रह्मा ने जब संसार को बनाया तो पेड़-पौधों और जीव जन्तुओं सबकुछ दिख रहा था,लेकिन उन्हें किसी चीज की कमी महसूस हो रही थी।इस कमी को पूरा करने के लिए उन्होंने अपने कमंडल से जल निकालकर छिड़का तो सुंदर स्त्री के रूप में एक देवी प्रकट हुईं। उनके एक हाथ में वीणा और दूसरे हाथ में पुस्तक थी।तीसरे में माला और चौथा हाथ वर मुद्रा में था।यह देवी थीं मां सरस्वती।मां सरस्वती ने जब वीणा बजाया तो संस्सार की हर चीज में स्वर आ गया। इसी से उनका नाम पड़ा देवी सरस्वती।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close