जमालपुर/ आयुर्वेद दवा से कोरोना को परास्त कर रहे एके शर्मा,कोरोना संक्रिमतों को दे रहे नई जिंदगी।

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री कर चुके हैं प्रशंसा।

आयुर्वेद दवा से कोरोना को परास्त कर रहे एके शर्मा,कोरोना संक्रिमतों को दे रहे नई जिंदगी।

 

 

 

 

 

 

केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री कर चुके हैं प्रशंसा।

 

 

 

 

 

 

आयुर्वेद दवा से निशुल्क कर रहे इलाज, कईयो को कर चुके हैं स्वस्थ्य।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

केएम राज की रिपोर्ट।

मुंगेर(जमालपुर): जिस कोरोना का इलाज अभी तक पूरी दुनिया नहीं खोज पाई है वह आयुर्वेद दवा से परास्त हो रहा है। लौहनगरी जमालपुर के आयुर्वेद अन्वेषक व चिकित्सक डॉ. अशोक कुमार शर्मा अपने शोध से कोरोना को।हराने वाली दवा को ईजाद किया है। अभी तक जमालपुर के अलावा, मुंगेर सहित दूसरे जिलों के सैकड़ों संक्रिमत लोग ठीक हो चुके हैं। इस कार्य को देखते हुए केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री अशिवनी चौबे और राज्य के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे इनके कार्य की प्रशंसा कर चुके हैं। डॉ. शर्मा बताते हैं कि कोरोना मरीजों में संक्रमण बढ़ने के कारण आईएल- 6 का लेवल बढ़ जाता है। इससे मरीज के फेंफड़ों में साइटोकाइन स्टॉर्म की स्थिति बनती है। यानी एक ऐसी स्थिति जब शरीर का रक्षा प्रणाली कोरोना वायरस की जगह अपनी ही स्वस्थ कोशिकाओं और टिशू को मारने लगती है। आयुर्वेद की दवा से लोग स्वस्थ्य हो रहे हैं। आज संकट की इस घड़ी में लोगों के लिए आशा की दीप बने हैं। बिना किसी स्वार्थ के निःशुल्क दवाइयां बांट रहे हैं।

 

 

शोध कर तैयार की दवा।

डॉ. अशोक कुमार शर्मा अपने द्वारा शोध कर तैयार किए गए आयुर्वेदिक दवा से कोरोना को हराने का दावा कर रहे हैं। अन्वेषक डॉ. शर्मा ने आम जनमानस के लिए आशा की किरण हैं। इनका प्रयास सिर्फ लोगों की जिंदगी बचाना। वह कहते हैं कि जान बचाने के लिए मेरा प्रयास सतत जारी है इसलिए जिंदगी बचाओ इस महायज्ञ में हाथ बटा कर उत्कृष्ट मानव सेवा के अभियान में साथ दें और हम तक सूचना पहुंचाएं। जरूरतमंद व्यक्ति के पास पैसे नहीं हों तो उन्हें भी हम दवा जरुर दिलवायेंगे। मानव सेवा के इस महायज्ञ अभियान में कोरोना महामारी काल में साथ खड़ा रहने का दंभ भर रहे हैं।

 

 

 

समाज से अपील, हमेशा हैं आपके साथ।

सांस्कृतिक, सामाजिक और राजनीतिक कार्यकर्ता से डॉ. शर्मा मार्मिक अपील की है। उन्होंने कहा है कि अन्वेषण शोध द्वारा तैयार किया गया आयुर्वेदिक दवा का निशुल्क रूप से सेवन कर इस महामारी से अपना व दूसरों के बचाव के लिए जीवन का परिचय दें। इनकी आयुर्वेदिक दवाई से मुंगेर जमालपुर ही नहीं बल्कि बिहार के कई जिलों के कोरोना संक्रमित डॉक्टर, नर्स, शिक्षक, जनप्रतिनिधि, सामाजिक नेता,कार्यकर्ता, मीडिया कर्मी से लेकर आम लोग भी लाभान्वित हुए हैं। कोरोना को हराने में सफल हुए हैं। इनकी सेवा भाव को देखते हुए केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे, गिरिराज सिंह व बिहार सरकार के स्वास्थ्य मंत्री मंगल पांडे सहित कई नामचीन हस्तियों ने सम्मानित किया है।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

बिहार का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा ‌‍?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close