चुनाव के बाद हरनौत का होगा सरथा सीएम ने लिया संज्ञान, विधायक से भी ली राय

नालन्दा (बिहार)हरनौत – इस वर्ष पंचायत चुनाव के बाद चंडी प्रखंड का सरथा पंचायत हरनौत प्रखंड में शामिल किया जा सकता है। सरथावासियों की वर्षों से जारी इस मांग पर सीएम नीतीश कुमार ने संज्ञान लिया। इसके लिए स्थानीय विधायक हरिनारायण सिंह को 19 फरवरी के दिन मिलने का समय दिया। कहा कि नालंदा मेरा गृह जिला है। पर चंडी आपके विधानसभा क्षेत्र में आता है। इसलिए इसपर आपकी राय भी जरूरी है। सूत्रों की मानें तो विधानसभा चुनाव के दौरान सरथा के लोगों ने जोरदार तरीके से इस मांग को उठाया था। मांग की याद दिलाते हुए विधायक ने भी सहमति दे दी। इसके बाद पंचायती राज आयुक्त को दूरभाष पर इस संबंध में स्वयं सीएम ने निर्देश दिया, जिसके बाद सरथा को हरनौत में शामिल करने संबंधी फाइल दौड़ने लगी है। आगामी कुछ माह में होने वाले पंचायत चुनाव के बाद औपचारिक रुप से इसकी घोषणा की जा सकती है।
सरथा निवासी व जदयू के कर्मठ कार्यकर्ता रविशंकर कुमार ने बताया कि पंचायत के विभिन्न गांवों से महिलाओं के प्रसव, किसानों के लिए कृषि योजना आदि सरकारी कार्यों के लाभ के लिए करीब 20 से 25 किमी दूर चंडी प्रखंड मुख्यालय जाना पड़ता है। वही, तीन से साढ़े तीन किमी में ही हरनौत प्रखंड मुख्यालय अवस्थित है। यहां से सरकारी योजनाओं व कार्यों का लाभ आसानी से मिल सकेगा।
इसके अलावा चंडी का अनुमंडल मुख्यालय हिलसा 40 से 45 किमी पड़ता है। जबकि, हरनौत प्रखंड का अनुमंडल मुख्यालय बिहारशरीफ मात्र बीस किमी है। हिलसा से लौटने में शाम चार बजे के बाद वाहन मिलना मुश्किल है। जबकि, बिहारशरीफ से लौटना आसान होता है।
रविशंकर ने बताया कि यह मांग वर्षों पुरानी है। पर, नई सरकार बनने के बाद वे हाल ही में सीएम से मिलकर इसकी याद दिलाई थी।
स्थानीय विधायक हरिनारायण सिंह ने भी मांग को लेकर सीएम से मिलने की बात कही। बताया कि उन्होंने भी इसपर सहमति दे दी है।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

बिहार का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा ‌‍?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close