हमारी प्रतिज्ञा उद्योग को बढ़ावा देने व रोजगार सृजन करने की है: पप्पू यादव

गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले हर परिवार के घर में महीने के 28 तारीख को पहुँच जाएगा राशन: पप्पू यादव

हमारी प्रतिज्ञा उद्योग को बढ़ावा देने व रोजगार सृजन करने की है: पप्पू यादव

 

 

 

 

गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले हर परिवार के घर में महीने के 28 तारीख को पहुँच जाएगा राशन: पप्पू यादव

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

पटना: अगर हमें मौका मिलता है तो रोजगार हमारी प्राथमिकता होगी और उद्योग को बढ़ावा देना व रोजगार सृजन करने की हमारी प्रतिज्ञा है। इसके तहत हम पहले ठेकेदारी के लाइसेंस में निबंधन शुल्क में भारी कमी करेंगे। कम बजट यानि 50 लाख तक के बजट वाले ठेकेदारी उन स्नातक बेरोजगारों को देंगे जिनकी सालाना आमदनी 3 लाख से कम है। सौ करोड़ के ठेके को 50-50 लाख के ठेके में विभाजित कर उसे ज्यादा से ज्यादा लोगों में बांटने का काम करेंगे। इसके अलावा जिन सरकारी कामों में सरकारी शिक्षकों को लगाया जाता है, हम वहां उनके स्थान पर बेरोजगार युवाओं को लगायेंगे। इससे अधिक से अधिक लोगों को रोजगार मिल सकेगा और स्कूमलों के शैक्षणिक माहौल भी बाधित नहीं होंगे। उक्त बातें जन अधिकार पार्टी (लो) के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कही। वो जहानाबाद विधानसभा से जाप उम्मीसदवार सुल्तानन अहमद के पक्ष में चुनावी सभा को संबोधित कर थे।

सत्ता पक्ष और विपक्ष पर हमला बोलते हुए उन्होंने कहा कि नेता रोजगार पर हवा – हवाई बात कर रहे हैं। कोई कहता है 10 लाख रोजगार देंगे तो कोई 15 साल शासन में रहकर कह रहा है कि रोजगार के लिए पैसा कहां से लायेंगे? यह कहकर वो अपनी 15 वर्षों की विफलता को खुद स्वी कार कर रहे हैं।

प्रोग्रेसिव डेमोक्रेटिक एलायंस के संयोजक पप्पू यादव ने अपनी प्रतिज्ञा दौरा के दौरान जहानाबाद के अलावा भोजपुर, औरंगाबाद और गया में चुनावी सभाओं को संबोधित किया और पीडीए के उम्मीदवारों के समर्थन में जनता से वोट करने की अपील की।

पप्पू यादव ने कहा कि गरीबी रेखा से नीचे रहने वाले हर परिवार के घर में 7 किलो आटा, 40 किलो चावल, 5 किलो दाल और 5 लीटर तेल, महीने के 28 तारीख को घर पहुँच जाएगा ताकि किसी गरीब को भूखा नहीं सोना पड़े। जिनके परिवारों के पास 2 बीघा से कम जमीन है उनका किडनी, कैंसर और दूसरे बिमारियों के ईलाज मुफ्त होंगे।

अंत में उन्होंने कहा कि 5 साल मत दीजिये हम तो सिर्फ 3 साल मांग रहे हैं। 3 साल में अगर बिहार में अमूलचूल परिवर्तन नहीं कर दिया तो जनता के सामने फिर नहीं आएंगे।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

बिहार का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा ‌‍?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close