इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने हाथरस में मीडिया पर पाबंदी की आलोचना की जिलाधिकारी और पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग।

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने हाथरस में मीडिया पर पाबंदी की आलोचना की
जिलाधिकारी और पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की मांग।

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

मैनपुरी, उत्तर प्रदेश।

 

 

 

 

 

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन ने हाथरस में बलात्कार पीड़िता की मौत की कवरेज के दौरान प्रशासन और पुलिस के अधिकारियों द्वारा मीडियाकर्मियों के साथ बदसलूकी की कड़ी निंदा की है। हाथरस के जिलाधिकारी और पुलिस अधीक्षक के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने की मांग की है।

 

 

 

 

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन पश्चिमी उत्तर के प्रदेश सचिव साकिब अनवर ने कहा कि हाथरस में कवरेज के लिए जाने वाले पत्रकारों को रोका जा रहा है। यह अभिव्यक्ति की स्वतंत्रता पर कुठाराघात है। अपनी गलतियों को उजागर करने से रोकने के प्रयासों से उत्तर प्रदेश सरकार की फजीहत हो रही है। बलात्कार पीड़िता की मौत और प्रशासन के रवैये की सच्चाई स्थानीय पत्रकारों और छोटे अखबारों के कारण ही सामने आई हैं। उन्होंने कहा कि मीडिया आज है, कल नहीं रहेगा कहकर पीड़िता के परिवार को धमकाने वाले जिलाधिकारी को तुरंत जिले से दफा करना चाहिए। योगी सरकार मीडिया पर रोक लगाने के बजाय अपने अफसरों की मनमानी पर रोक लगाए।

 

 

 

 

इंडियन जर्नलिस्ट एसोसिएशन के मैनपुरी जिला अध्यक्ष अजय दीक्षित ने कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार को मीडियाकर्मियों से बदसलूकी करने वाले जिलाधिकारी और पुलिस अधिकारियों के खिलाफ कड़े कदम उठाने चाहिए। मीडियाकर्मियों को कवरेज से रोककर अफसर अपनी गलतियां छिपाने की नाकाम कोशिश कर रहे हैं। एसोसिएशन के जिला कोषाध्यक्ष दीपक शर्मा ने कहा है कि जिलाधिकारी और पुलिस के अफसरों की मनमानी करने से स्पष्ट हो रहा है कि उत्तर प्रदेश में अफसरशाही हावी हो गई है। सत्तारूढ़ दल के सांसद और विधायक ही योगी सरकार की आलोचना कर रहे हैं।

 

 

हाथरस में मीडियाकर्मियों से साथ बदसलूकी शिकायत प्रधानमंत्री, केंद्रीय गृहमंत्री और भारतीय प्रेस परिषद से की जाएगी।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

बिहार का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा ‌‍?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close