जिला में अधिकारियों की सांठगांठ से जारी है जमीन बंदोबस्ती घोटाला : एनसीपी

मंत्री को स्पष्ट करना चाहिए कि मस्जिद की जमीन के दीवाल के गेट पर लिखें गए एसके का मतलब शैलेश कुमार होता है या संजय केसरी

 

 

 

 

जिला में अधिकारियों की सांठगांठ से जारी है जमीन बंदोबस्ती घोटाला : एनसीपी

 

 

 

मंत्री को स्पष्ट करना चाहिए कि मस्जिद की जमीन के दीवाल के गेट पर लिखें गए एसके का मतलब शैलेश कुमार होता है या संजय केसरी

 

 

 

 

 

 

 

 

 

 

मुंगेर। एनसीपी श्रमिक प्रकोष्ठ के प्रदेश अध्यक्ष संजय केशरी ने बयान जारी कर कहा है कि जिला में सुशासन सम्पोषित जमीन बन्दोबस्ती घोटाला अधिकारियों की सांठगांठ से जारी है। जिस बहती गंगा में मंत्री शैलेश कुमार भी जमकर हाथ धो रहे हैं। श्री केशरी ने कहा कि मुसलमानों के इबादतगाह मस्जिद की जमीन हड़पने वाले मंत्री को स्पष्ट करना होगा कि पोस्ट ऑफिस टोला के उस जमीन का बन्दोबस्ती किसके नाम पर और कैसे हो गया। जिस पर कल तक मनरेगा के तहत कार्य हो रहा था। उन्होंने ने कहा कि एनसीपी कार्यकर्ता जमालपुर विधानसभा क्षेत्र के मुस्लिम बहुल इलाकों में घर-घर जाकर मंत्री शैलेश कुमार और मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के तथाकथित मुस्लिम प्रेम की पोल खोलेंगी। प्रदेश अध्यक्ष ने यह भी दावा किया कि मंत्री को ग़लत तरीके से जमीन हड़पने में मदद करने वाले कम से कम तीन पदाधिकारियों को एनसीपी शीघ्र ही जेल यात्रा करायेगी।

 

 

 

 

 

श्री केशरी ने कटाक्ष करते हुए कहा कि मस्जिद की जमीन घेरकर खड़े किए गए दीवार पर जो गेट लगाया गया है उस पर बड़े-बड़े अक्षरों में लिखे गए एसके का मतलब शैलेश कुमार होता है या संजय केशरी होता है, यह मंत्री को स्पष्ट करना चाहिए।मंत्री के लगुए-भगुए के द्वारा साम्प्रदायिक राजनीति के आरोप पर तीव्र प्रतिक्रिया देते हुए श्री केशरी ने कहा कि अगर मस्जिद की जमीन को मंत्री द्वारा अतिक्रमण से बचाना साम्प्रदायिक राजनीति है, तो मुझे खुशी है कि मैं साम्प्रदायिक राजनीति करता हूं।

Live Cricket Live Share Market

जवाब जरूर दे 

बिहार का अगला मुख्यमंत्री कौन होगा ‌‍?

View Results

Loading ... Loading ...

Related Articles

Back to top button
Close
Close